Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur, Meerut  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
 
Latest News श्री दिगम्बर जैन प्राचीन बड़ा मन्दिर हस्तिनापुर में भगवान त्रिमूर्ति जिनालय में ग्यारवी बार 40 दिवसीय शांति विधान का भव्य आयोजन 4 मई 2017 से 12 जून तक आयोजित होने जा रहा है आप अपनी और से एक दिन के विधान में सहयोग देकर धर्म लाभ ले। एक दिन के विधान की सहयोग राषि मात्र 1100 रू0 है।       
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
Downloads   Donation   English   Hindi  
Facilities
Rooms
Mess
Hospital
Gaushala
Other
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
40 दिवसीय शांतिनाथ विधान
विधान कर्ता सहयोगी
5 विधान (पाठ) के पुण्यार्जक (2017)
21 विधान (पाठ) के पुण्यार्जक (2017)
11 विधान (पाठ) के पुण्यार्जक (2017)
40 विधान (पाठ) के पुण्यार्जक (2017)
आज के विधान के आयोजक
पूजन आयोजक
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Events
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
मंदिरों का परिचय
Vishal Singh Dwaar Vishal Singh Dwaar  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur सिंहद्धार Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
मंदिर निर्माण के पश्चात विक्रम संवत 1897 ई0(सन 1813 में) में ला. जयकुमारमल ने विशाल गेट सिंहद्वार का निर्माण कराया। किवदंति है कि यहाँ प्रतिदिन शेर भगवान के दर्शन करने आता था।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Maan Stambha (Column of Dignity)  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur मानस्तम्भ Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
कलात्मक गेट से मंदिर जी में प्रवेश करते ही भगवान शांतिनाथ जी का 31 फुट ऊँचा मानस्तम्तभ बना हुआ है। जिसका निर्माण सन 1955 को उग्रसैन शीतल प्रसाद जैन सौदागर मेरठ ने कराया था।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Main Mandir Enterence  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur मुख्य मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
मानस्तम्भ के पश्चात् चार फुट की ऊँचाई पर एक भव्य चबूतरे पर एक भव्य उतंग, शिखरबद्ध मंदिर का निर्माण कराया गया है। मंदिर में केवल एक ही खण्ड है और यह काफी विशाल है। इस मंदिर में एक वेदी है। जिसमें तीन दरवाजे हैं। मूलनायक प्रतिमा भगवान शांतिनाथ श्वेत पाशाण की लगभग एक हाथ पदमासन प्रतिमा है। जो कि विक्रम संवत 1548 वैशाख सुदी तीज को भट्टारक जिनचन्द्र के द्वारा प्रतिश्ठित करायी गयी थी। जो कि अतिशयकारी प्रतिमा है। यहां यदा कदा अतिशय के दर्शन होते रहते है। दांयी ओर अरहनाथ जी की व वायीं ओर कुन्थुनाथ जी व रत्नमयी प्रतिमाओं में पांच बालयति की प्रतिमाऐं विराजामन है। मंदिर के अन्दर भव्य राजस्थानी कलाकारो द्वारा कलात्मक चित्र भाव व सभी भावों के उपर बहुत ही सुन्दर सोने का कार्य विद्धमान है। जो कि दर्शको, भक्तो को अपनी ओर आकर्शित करता है।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Parshw Nath Jinalay  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री पाश्र्वनाथ मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
मुख्य शिखर के चारों ओर विशाल भव्य जिनमंदिर बने हुए हैं। जिनमें भ0 पाश्र्वनाथ का मंदिर मूलचंद जैन सर्राफ मेरठ सदर ने बनवाया। जिसमें सवा ग्यारह फुट, ग्यारह फन वाली मनोहारी प्रतिमा विराजमान है। जिसकी पंचकल्याणक प्रतिश्ठा वीर निर्वाण संवत 2520 में हुई।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Nandishwar Dweep  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री नंदीश्वद्वीप Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
पाश्र्वनाथ मंदिर के समीप विशाल गोलाकार अठपहलू में नंदीश्वरद्वीप की रचना की गयी। जिसके मध्य में गोल चबूतरे पर स्वर्णमयी पंचमेरू की रचना हैं। और चारों दिशाओं में तेरह-तेरह जिनमंदिरों सहित नंदीश्वरद्वीप की रचना है। तीनों अश्टाहिन्का पर्व में भक्तिपूर्वक सिद्धचक्र विधान करते हैं। वीर निर्वाण संवत 2511 सन 5 फरवरी 1985 इसका निर्माण हुआ।
नंदीश्वरद्वीप के दोनों ओर भ0 अरहनाथ भ0 शांतिनाथ की प्रतिमाऐं विराजमान हैं जो भूगर्भ से 20 जौलाई 1979 में प्राप्त हुई थी।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Neminath Jinalay  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री नेमीनाथ मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
जैन धर्म के 22वें तीर्थंकर नेमीनाथ जी विराजमान हैं। इस मंदिर का निर्माण मूलचंद जैन सर्राफ मेरठ ने कराया। वीर निर्माण संवत 2520 में आचार्य विद्यानंद जी के सान्निध्य में पंचकल्याणक प्रतिश्ठा हुई।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Arahnath Jinalay  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री अरहनाथ जिनमंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
इस मंदिर का निर्माण श्रीमती शकुन्तला देवी जैन ध.प. दरबारीमल दिलली ने किया। अरहनाथ की प्रतिमा वीराब्द 2499 विक्रमाब्द 2029 को सदर मेरठ पंचकल्याणक में प्रतिश्ठित हुई। इस प्रतिमा के साथ चार प्रतिमाऐं और विराजमान हैं।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Aadinath Ji  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री आदिनाथ जिनालय Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
युग प्रर्वतक भ. आदिनाथ की परम शांत मुख मुद्रायुक्त सवा सात फुट मनोहारी प्रतिमा विराजमान है। इस जिनालय का निर्माण सौ. जयवंती देवी जैन ध.प. ला. विमल किशोर जैन दिल्ली ने कराया। जिसकी पंचकल्याणक प्रतिश्ठा वि.सं. 2511 दिनांक 5 फरवरी 1911 को हुई।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Trimurti Mandir  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur भव्य त्रिमूर्ति मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
प्राचीन मुख्य शिखर के पीछे भव्य स्वर्णमयी त्रिमुर्ति मंदिर है जिसका निर्माण मुख्य मंदिर के बाद हुआ था। मुख्य मूल वेदी में पाश्र्वनाथ की प्रतिमा भ0 शांतिनाथ, कुन्थुनाथ प्राचीन प्रतिमाऐं हैं। इस वेदी के दायी ओर भ0 शांतिनाथ की पांच फुट ग्यारह इंच की बादामी रंग की खडगासन 1200 वर्श प्राचीन प्रतिमा विराजमान है। 50 वर्श पूर्व भूगर्भ से प्रकट हुई थी। जो बडी अतिशयकारी बहुत प्राचीन है। भ0 पाश्र्वनाथ के बायी ओर भ0 महावीर स्वामी की सवा सात फुट ऊची प्रतिमा विराजमान है।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Trimurti Mandir  
Shantinath
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Bhoogrbh Se Prapt Bhagwan ShantinathShri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
 
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Trimurti Mandir  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur Bhagwan Shantinath Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
 
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Mallinath Samav Sharan Jinalay  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री समवशरण मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
मंदिरों के क्रम में विशाल समवशरण की रचना की गयी है। इस समोशरण का निर्माण समाज के सहयोग से एवं श्रीमती कुसुमलता जैन ध.प. श्री महेन्द्र कुमार जैन(सूत वाले) मेरठ की प्रेरणा से संयोजक हंसकुमार जैन सर्राफ की देख रेख में हुआ है। इस मंदिर 992 चैत्यालय चारों दिशाओं में चार मानस्तभ हैं मध्य में तीन कटनी के ऊपर कमल से अधर में विराजमान भ0 मल्लिनाथ की चार प्रतिमाये विराजमान हैं। चवर ढोते इन्द्र, विमान से पुश्प वर्शा, यक्शइन्द्र धर्मचक्र लिये खडे हैं। बारह सभाऐं बनायी गयी हैं। इसकी वीर निर्वाण संवत 2420 में पंचकल्याणक प्रतिश्ठा हुई। जिसके दर्शन करते ही भव्य जीव के परिणाम निर्मल हो जाते हैं।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Kunthunath Ji Mandir  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur कुन्थुनाथ मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
समवशरण के समीप कुन्थुनाथ जिनालय है। इस जिनालय में श्री पन्नालाल सोनीपत द्वारा प्रदŸा। वीराब्ध 2499 विक्रमाब्ध 2029 को प्रतिश्ठित कुन्थुनाथ भगवान श्वेत पाशाण की मनोज्ञ प्रतिमा विराजमान है।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Kunthunath Ji Mandir  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री महावीर मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
भगवान महावीर जिनालय का निर्माण 7 मई 2008 को ला. मेहरचंद जैन (नेताजी) की स्मृति में स्व.श्री योगेन्द्र कुमार जैन रईस सरधना द्वारा आरम्भ कराया गया जोकि उनकी पत्नि श्रीमती इन्दु जैन के निर्देशन में उनके पुत्र श्री कुणाल जैन व पुत्रवधु श्रीमती निधि जैन ने पूर्ण करया।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Chander prabhu Jinalay  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री चन्द्रप्रभु मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
भगवान चन्द्रप्रभु जिनालय का निर्माण 7 मई 2008 को आचार्य श्री बाहुबली जी महाराज ससंघ के सान्निध्य में श्रीमती रविकांता जैन ध.प. श्री महेश चंद जैन रोहिणी दिल्ली(कलकत्ता वालोे) द्वारा सम्पन्न हुआ।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Bhagwan Bahubali Mandir  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur श्री बाहुबली मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
आगे चलकर बांयी ओर मंदिर प्रागंण में विशाल भगवान बाहुबली जिनालय है। जिसमें गुलाबी संगमरमर की एक विशाल प्रतिमा के दर्शन होते हैं जिसका निर्माण वीर नि. 2501 विक्रम सं. 2031 माघ शुक्ल 13 मंगलवार को आचार्य धर्मसागर जी महाराज ससंघ, आचार्य श्री विद्याानंद जी महाराज के सान्निध्य में ला. उग्रसैन जैन महेन्द्र कुमार जैन(सूत वाले) ने निर्माण व प्रतिश्ठा कराई।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Ambika Mandir  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur मा अम्बे मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
20 जौलाई 1979 को भ0 शांतिनाथ, अरहनाथ के साथ मा अम्बे की प्राचीन प्रतिमा प्रकट हुई। जिनके शीश पर भगवान नेमीनाथ विराजमान है। मा अम्बे की सभी की भक्तों की मनोकामना पूर्ण करती है।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Jal Mandir  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur जल-मंदिर Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
भगवान महावीर के जल मंदिर जिनालय का निर्माण श्री हेमचंद जैन सर्राफ मेरठ ने अपने पिता स्व0 श्री जयन्ती प्रसाद जैन सर्राफ की स्मृति में कराया। भगवान महारावीर की खडगासन प्रतिमा विक्रम सं0 2031 वीर नि. 2501 माघ शुक्ल त्रयोदशी मंगलवार को आ. विद्यानंद जी महाराज के सान्निध्य में प्रतिश्ठत है। इस मंदिर के चारों ओर तालाब है। द्वार के दोनों ओर दो विशाल सिंह बने हुए है। मंदिर के चारों ओर विशाल पार्क व हरियाली का शांत वातावरण मन को एक अध्यात्मिक शांति प्रदान करता है।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Vishal Pandukshila  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur पांण्डुक शिला Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
जल मंदिर के निकट पाण्डुक शिला निर्मित है। इस सुन्दर पाण्डुक शिला का निर्माण स्व0 लाला खजान सिंह मंसूरपुर वालों की स्मृति में उनके परिवार वालों के द्वारा कराया गया। इसके चारों ओर बगिया बनी है। इस पाण्डुक शिला पर मेले में रथयात्रा महोत्सव पर भगवान का अभिशेक किया जाता है।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
24 Tonks ( Mini SammedShikhar Ji)  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur चैबीस टोंक Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
पाण्डुक शिला के पीछे 24 टोंक (लघु सम्मेद शिखर) का निर्माण किया गया है। जिसमें 24 भगवान के चरण चिन्ह बने हुए है। जिनके दर्शन करने से हमें सम्मेद शिखर जी की यात्रा का अनुभव होता है।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Mahamuni Vishnu Kumar Ji  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur विश्णु कुमार मुनि Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
24 टोंक के समीप ही विश्णुकुमार मुनिराज की प्राचीन भव्य प्रतिमा व मंदिर बना हुआ है। जिन्होने श्रावण शुक्ला पूणर््िमा को अकम्पनाचार्यदि 700 मुनियों की उपसर्ग दूर करके रक्शा की तभी से रक्शा बंधन पर्व का प्रार्दुभाव हुआ।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Jain Pratik Pharmchakra  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur धर्मचक्र Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
उपवन के दक्षिण भाग के पूर्व पष्चिम में क्षुल्लक सहजानंद जी वर्णी जी, आचार्य श्री षांतिसागर जी महाराज, श्री नेमीसागर जी महाराज, मुनि श्री आदिसागर जी महाराज, बाबा लालमन दास जी की समाधियां बनी हुई है। जिन्होने इस क्षेत्र पर आकर अपना धर्म ध्यान के साथ देवलोक गमन किया।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Jain Museum  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur आचार्य श्री विद्यानंद संग्राहल Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
क्षेत्र पर संग्राहलय भी स्थापित है जिसमें जैन धर्म से संबंधित चित्र, मूर्तियां व छाया चित्र लगे हुए है। जिसमें अदभुद कला के दर्शन होते हैं। इसका उदघाटन 4 नवम्बर 1998 को वार्शिक मेले के अवसर पर श्री जीवेन्द्र कुमार जैन गाजियाबाद के द्वारा हुआ था।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Muni Shri Aadisagar Ke Samadhi  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur समाधि स्थल Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
उपवन के दक्शिण भाग के पूर्व पश्चिम में क्शुल्लक सहजानंद जी वर्णी जी, आचार्य श्री शांतिसागर जी महाराज, श्री नेमीसागर जी महाराज, मुनि श्री आदिसागर जी महाराज, बाबा लालमन दास जी की समाधियां बनी हुई है। जिन्होने इस क्षेत्र पर आकर अपना धर्म ध्यान के साथ देवलोक गमन किया।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Muni Shri Aadisagar Ke Samadhi  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur गौशाला Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
उपवन के दक्शिण भाग के पूर्व पश्चिम में क्शुल्लक सहजानंद जी वर्णी जी, आचार्य श्री शांतिसागर जी महाराज, श्री नेमीसागर जी महाराज, मुनि श्री आदिसागर जी महाराज, बाबा लालमन दास जी की समाधियां बनी हुई है। जिन्होने इस क्षेत्र पर आकर अपना धर्म ध्यान के साथ देवलोक गमन किया।
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Babe Baba Shantinath Jainalay  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur बडे बाबा शाल्‍ितनाथ जैनालय Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur
 
Babe Baba Shantinath Jainalay  
Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur बडे बाबा शाल्‍ितनाथ जैनालय Shri Digamber Jain Prachin Bada Mandir Hastinapur